Nutrition for Better Life

Fastest growing Nutritional brand

Protein Plus

MRP: 
Rs.375

प्रोटीन एक नाइट्रोजन युक्त पदार्थ है जिसकी रचना लगभग 20 ऐमिनो अम्लों (Amino acids) से होती है।

प्रोटीन के भीतर, कई अमीनो एसिड पेप्टाइड बॉन्ड (peptide bonds) द्वारा एक साथ जुड़े हुए हैं, जिससे एक लंबी श्रृंखला बनती है। पेप्टाइड बॉन्ड जैव रासायनिक प्रतिक्रिया से बनते हैं।

शरीर द्वारा प्रोटीन कैसे प्रयोग किया जाता है?

प्रोटीन हमारे शरीर में कई काम करता है, जैसे कि हम पहले ही बता चुके हैं कि ये मानव शरीर को उर्जा प्रदान करता है और शरीर की मरम्मत करता है। हमारे शरीर का 15% भाग प्रोटीन से ही बना होता है।

इसके प्रमुख काम हैं-

ये कोशिकाओं (cells), जीवद्रव्य(organisms) और ऊतकों (tissues) को बनाने की प्रक्रिया में हिस्सा लेता है।

शरीर के बढ़ने-फुलने के लिए प्रोटीन जरूरी है। इसके बिना शरीर का विकास रुक जाता है।

ये जैव उत्प्रेरक एवं जैविक नियंत्रक के रूप में कार्य करते हैं। (They work as biological catalysts and biological controllers.)

शरीर के एक हिस्से से दूसरे तक संकेतों (signals) को ले जाने के लिए प्रोटीन का उपयोग किया जाता है।

हमें रोज़ाना कितने प्रोटीन की जरूरत होती है?

हमारे शरीर को 20 प्रकार की प्रोटीन की जरूरत होती है जिसमें से 10 शरीर के अंदर बनती हैं और 10 हमें भोजन से प्राप्त होती हैं।

अगर रोज़ाना प्रोटीन की मात्रा की बात करें, तो ये नीचे बताया गया है कि उम्र के हिसाब से आपको हर रोज़ कितने ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए।

आयु
प्रोटीन की जरूरत (ग्राम में)

शिशु
10

किशोर लड़के
52

किशोर लड़कियां
46

पुरुष
56

महिलाएं
46

गर्भवती / स्तनपान कराने वाली महिलाएं
71